Saturday, February 27, 2021
Bakaiti Ke Chanakya


इस बेटी को आया शानदार आइडिया,एक कमरे में काम करके बन गईं करोड़पति

दोस्तों आज हम बात कर रहे हैं एक ऐसी महिला के बारे में जिन्होंने बेरोजगार युवक और युवतियों को यह…

By Bakaiti Desk , in प्रेरणा , at December 25, 2020 Tags: , , ,


दोस्तों आज हम बात कर रहे हैं एक ऐसी महिला के बारे में जिन्होंने बेरोजगार युवक और युवतियों को यह बताया कि यदि आपमे कुछ करने की इच्छा है तो आपको सफल होने से कोई रोक नही सकता। आज हम बताएंगे कि कैसे एक छोटी सी नौकरी करने वाली महिला आज एक सफल बिजनेस वोमेन बनकर करोड़पति बन गई है। इतना ही नही अब यह अन्य लोगों भी रोजगार दे रहीं हैं।

युवाओं के लिए बनी प्रेरणा

 

आज हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड की रहने वाली दिव्या रावत के बारे में,आज के समय मे दिव्या एक प्रेरणा स्रोत बन चुकी हैं। दिव्या मूल रूप से देहरादून की रहने वाली हैं । अब इनकी पहचान मशरूम गर्ल के नाम से बन चुकी है। स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद दिव्या ने दिल्ली के एमिटी यूनिवर्सिटी से मास्टर ऑफ सोशल वर्क की पढ़ाई पूरी की है। इसके बाद इन्होंने शक्ति वहनी नाम एक ngo में जॉब करना शुरू कर दिया। लेकिन इस नौकरी में दिव्या का मन अधिक समय तक नही लगा।

7-8 नौकरियों को छोड़ लौट आईं घर

इसके बाद इन्होंने 25 हजार की सैलरी पर एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करना शुरू किया। लेकिन दिव्या ने जल्दी ही यहां भी जॉब छोड़ दी। दिव्या 7-8 नौकरियों को छोड़ कर देहरादून वापस आ गई। साल 2013 में इन्होंने फैसला कर लिया कि ये कुछ अलग करके दिखायेंगीं। दिव्या ने अपने आस पास के युवाओं को बहुत कम सेलरी के लिए पलायन करते हुए देखा। इसका कारण जानने के लिए दिव्या गांव गांव घूमी लोगों से बात की,फिर उन्होंने यह समझा कि अगर वे कृषि में कुछ करें तो उन्हें अच्छे परिणाम मिल सकते हैं।

शुरू की अपनी मशरूम कम्पनी

साल 2015 में दिव्या ने मशरूम उगाने की ट्रेनिग हासिल की और उसके बाद उन्होंने मशरूम उगाना शुरू कर दिया। शुरुआती दौर में दिव्या ने 3 लाख रुपए की लागत से मशरूम की खेती शुरू की,बाद में उन्हें इसी धन से अधिक लाभ प्राप्त होने

और दिव्या ने अपनी एक कम्पनी शुरू कर ली। दिव्या ने इस कम्पनी का नाम सौम्या फ्रूट प्राइवेट कंपनी रखा है। इन्होंने इस कम्पनी में अन्य युवाओं को भी अपनी कम्पनी में ही रोजगार उपलब्ध करवाया है।

2 करोड़ का है सालाना टर्नओवर

केवल 5 वर्षों में दिव्या उत्तराखंड में मशरूम प्रोडक्शन की 55 यूनिट्स लगा चुकी हैं। आज के समय में दिव्या की कम्पनी हर साल करीब 2 करोड़ रुपए का टर्नओवर करती है। इस इंटरव्यू के दौरान इन्होंने यह भी बताया था कि मशरूम की खेती कोई भी कर सकता है। इसकी पूरी फसल केवल दो महीनों के अंदर तैयार हो जाती है।

अगर आपके पास एक कमरा भी है तो आप इसका काम शुरू कर सकते हैं। इस एक कमरे से आपको 5 से 6 हजार रुपए का मुनाफा प्राप्त हो सकता है। मशरूम को उगाने की सही तरह से ट्रेनिंग लेने के बाद आप एक बड़े उद्योगपति बन सकते हैं।

राष्ट्रपति से मिल चुका है पुरस्कार

आपको बता दें कि दिव्या रावत को उत्तराखंड सरकार ने मशरूम की ब्रांड एम्बेसडर भी बना दिया है।

इतना ही नही दिव्या को राष्ट्रपति से नारी सशक्तिकरण सम्मान भी मिल चुका है। आज के समय मे दिव्या को देश विदेश में मशरूम लेडी के नाम से जाना जाता है।

Comments