Thursday, February 25, 2021
Bakaiti Ke Chanakya


कोरोना वैक्सीन की शीशी खुली तो कितने घंटे के अंदर टीका लगाना है जरूरी !

  कोरोना वायरस की महामारी का संकटकाल भयानक दृश्य लेकर सामने आया है, जिसमें करोड़ों- करोड़ों लोग मौत की नींद…

By Bakaiti Desk , in देश , at January 24, 2021 Tags: , ,


 

कोरोना वायरस की महामारी का संकटकाल भयानक दृश्य लेकर सामने आया है, जिसमें करोड़ों- करोड़ों लोग मौत की नींद सो गए। अब भारत सहित दुनिया भर में कोरोना वायरस की वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सूचना है कि भारत में अब तक 6 लाख लोगों को वैक्सीन का टीका लगाया जा चुका है।

कोरोना वैक्सीन की शीशी

आज तक की न्यूज के मुताबिक भारत में “कोविशील्ड” और “कोवैक्सीन” का टीका लगाया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक कोविशील्ड की एक शीशी में दस लोगों की खुराक होती है और एक बार शीशी खुल जाने के बाद टिके को 4 घंटे के अंदर ही लगाना होता है नहीं तो टिके बेकार हो जाते हैं।

कोरोना वैक्सीन की शीशी

शारीरिक प्रशिक्षण प्रशिक्षक (PTI) के रिपोर्ट के मुताबिक Oxford की कोविशील्ड की प्रथम खेप दिल्ली के राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में 12 जनवरी को पहुंची थी। भारत में बायोटेक द्वारा बनी कोवैक्सीन भैया सेहत के 12 जनवरी के अगले दिन राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में पहुंची थी। इस हस्पताल में सबसे पहले डॉक्टरों, नर्सो और अन्य लोगों को कोवीशील्ड की खुराक दी जा रही है।

कोरोना वैक्सीन की शीशी

राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी है कि कोवीशील्ड के सभी शीशी 5 मिलीलीटर की 10 खुराक होती हैऔर प्रत्येक खुराक एक बार खुलने के बाद 4 घंटे तक ही सुरक्षित रहती है इसके बाद कोई काम की नहीं होती है।

कोरोना वैक्सीन की शीशी

एक जानकारी के मुताबिक आपको यह बता दे कि भारत में अब तक 6 लाख लोगों को टीका दिए जा चुके हैं। जिसमें करीबन 1 हजार लोगों में इसके साइड इफेक्ट्स देखने को मिले हैं। गंभीर साइड इफेक्ट्स के बाद अब 7 लोगों में से 2 लोगों की टीका लेने के बाद मौत हो चुकी है। यह तो स्पष्ट है कि कोवैक्सीन और कोवीशील्ड टीका सब लोगो में एक ढंग से काम नहीं कर रही है।

Comments